Spread the love

ज़िन्दगी क्या है?

इस बारे में हर एक के अपने अनुभव और अपनी विचारधाराएं है। कोई भी हो वो एकदम सटीक तरीके से ये नहीं कह सकता कि ज़िन्दगी सिर्फ यहीं है।

फिर भी जितने मैंने अपने अनुभव से जाना है उस आधार पर में यह कहूंगा कि ज़िन्दगी ही वो एकमात्र साथी है जो हमारी पहली ली हुई सांस से आखिरी ली हुई सांस तक साथ देती है। हमलोग Life को एक बहुत अच्छा शिक्षक कहते है जो हर पल हमको नई सीख देती है, एक बहुत खूबसूरत हमसफ़र मानते हैं जो हर मोड़ पर साथ देती हैं और तो और एक बहुत ही अच्छी मां भी समझते हैं जो हर पल हमें पालती है। इनसब के अलग एक बात ओर की की कई बार हमें लगता है कि life में सब गड़बड़ हो रही है। आख़िर ये life हमसे क्या चाहती है, लेकिन वक़्त गुजरने के साथ हम यह भी अनुभव करते हैं कि अगर उस वक़्त हमारी life में वो गड़बड़ न होती तो हमें आज की ये खुशी नहीं मिलती।

Life इन्हीं सब अनुभवों को पिरोकर एक छोटी सी कविता आप सभी के लिए-

A man taking tree in his hand

ज़िन्दगी बनने से पहले कई बार बिगड़ती हैं

गिरते-गिरते भी ये कई दफ़ा संभालती है

हर मोड़ पर नया आशियाँ बनाती है ये

एक रोज़ उसको भी छोड़ नए सफर पें निकलती है ये

नहीं रखती ये बैर किसी से

न ही कोई सगा है इसका

फिर भी साथ निभाती है

गिरती है बेशक़ पर उठना भी सीखती है

कहती है ये हमसे हमेशा,

तुम्हारी साथी हूं

मैं ज़िन्दगी हूँ मैं रिश्तों को यूँही निभाती हूँ मैं|

Aman Kaushik