Spread the love

एक छोटा-सा कदम आपकी ज़िंदगी बदल सकता है(Book Summary in Hindi):

बचपन की एक खास बात पता क्या होती है? इस उम्र में हमसभी को कहनियाँ सुनने का खूब शौक होता है। इसके साथ ही ये कहानियां मज़े-मज़े में हमें बहुत गहरे सबक समझा जाती है।

ऐसी ही एक कहानी हम सभी ने सुनी है-

एक कौआ बहुत दूर से उड़ता एक बंज़र इलाके में पहुँचता है। इतनी लंबी उड़ान के बाद उसको बहुत तेज प्यास लगती है। लेकिन उस बंज़र जगह पर न तो कोई तालाब होता है, न ही कोई नदी। अचानक कौए को एक झोपड़ी के पास एक घड़ा रखा दिखाई देता है। उसमें देखने पर नजर आता है कि उसमें थोड़ा-सा पानी है। लेकिन वह इतनी गहराई में हैं कि कौआ उस पानी तक नहीं पहुँच सकता। कुछ वक्त बाद प्यास से व्याकुल होकर वह घड़े के बगल में पड़े कंकडों को उस घड़े में एक-एक करके डालना शुरू करता है। कुछ समय बाद वह घड़ा ककड़ो से भर जाता है और पानी गहराई से सतह पर आ जाता है। कौआ खुशी से पानी पीकर अपने आगे के सफर पर निकल पड़ता है।

यह कहानी सुनने/पढ़ने में जितनी रोचक है। इसका सबक उतना ही फायदेमंद है।

बड़ी सफलताओं को पाने के लिए यह जरूरी नही होता कि हमें बड़े कदम ही उठाने पड़े। छोटे कदमों से भी लम्बी यात्राएं सम्भव है।

एक छोटा-सा कदम आपकी ज़िंदगी को बदल सकता है।

एक छोटा-सा कदम आपकी ज़िंदगी को बदल सकता है:Book summary in Hindi

इस Book में ऐसे ही छोटे-छोटे कदमों को उठाकर सफलता प्राप्त करने के अनुभवों को साझा किया है। जिसमें बताई गई काइज़न तकनीक को अपने जीवन में हम अपनाकर कैसे सफलता के शिखर पर पहुँच सकते है। यहीं बताया गया है।

लेखक के बारे में

इस पुस्तक के लेखक Robert Mourer, phD एक जाने माने मनोवैज्ञानिक है। जो U.C.L.A and UNIVERSITY OF WASHINGTON SCHOOLS OF MEDICINE के EDUCATION DEPARTMENT में है।

लेखक ने अपनी Book एक छोटा-सा कदम आपकी ज़िंदगी को बदल सकता है:Book summary in hindi में प्राचीन काइज़न तकनीक की चर्चा की है।


इसमें मेरे लिए क्या है?

हमेशा छोटे कदम लें

हम लोग हरसाल न जाने कितने plans बनाते है। लेकिन हक़ीक़त में उनमें से कितनों को हम पूरा कर पाते है। जाहिर है बहुत ही कम। दूसरी तरफ ऐसे बहुत से लोग होते है जो कोई भी plan बनाये उसे आसानी से पूरा कर लेते है।

आखिर ऐसा क्यों?

इसका जवाब सम्भावित किसी भी plan या निर्णय को छोटे-छोटे हिस्सो में बाँट कर छोटे कदम उठाना है।

एक हजार मील की लंबी यात्रा भी पहले छोटे कदम से ही शुरू होती है।

हमेशा छोटे प्रश्न पूछें

हम अपने दिमाग से लगातार जो पूछतें है। हमारा दिमाग उस पर अपने आप गौर देने लगता है। प्रश्नों का छोटा होना हमारे दिमाग को डर का संकेत नही देता। इसके साथ काम को इसी पल करने की सम्भवनायें भी बताता है।

कुछ छोटे प्रश्न-

  1. अगर स्वस्थ मेरी प्राथमिकता है तो मै आज अभी क्या अलग कर सकता हूँ?
  2. अगर अमीर बनना मेरा लक्ष्य है तो अभी से मैं अपनी बचत कैसे शुरू कर सकता हूँ?
  3. मैं व्यायाम को कुछ मिनट के लिए ही अपनी दिनचर्या में कैसे शामिल कर सकता हूँ?

छोटे कार्यो से शुरुवात करें

जैसे हमारी कहानी में कौए एक-एक कंकडों डालने जैसा छोटा कदम उठाकर पानी पीने में सफलता प्राप्त कर ली। इसीप्रकार हमें सोचना है कि कौन से छोटे कदम उठाकर हम अपने लक्ष्य तक लगातार बड़ सकते है।

इनसब के बाद हमारे दिमाग में प्रश्न आरा होगा कि ऐसे छोटे काम करने से तो हमें लक्ष्य तक पहुँचनें में बहुत समय लगेगा?

इसकी पुष्टि के लिए मैं आपको चक्रवृद्धि का सूत्र बता दूं कि अगर आप एक निश्चित छोटी राशि को निश्चित समय 10-20 साल के लिए निवेश करते है। इसके बाद चक्रवृद्धि से प्राप्त राशि हमारी कल्पना से बड़ी होगी।

इन्ही छोटे-छोटे कदमों को लेने का परिणाम होता है। जिसमे असफलता की संभावना बहुत कम हो जाती है।